Friday , 7 October 2022
Breaking News
Home / Breaking / पंजाब विधान सभा मतदान : पंजाब पुलिस द्वारा संवेदनशील क्षेत्रों में ग़ैर-कानूनी गतिविधियों और पैनी नज़र रखने के लिए किया जा रहा है ड्रोन का प्रयोग, चलाए जा रहे हैं कौंबिंग ऑपरेशन

पंजाब विधान सभा मतदान : पंजाब पुलिस द्वारा संवेदनशील क्षेत्रों में ग़ैर-कानूनी गतिविधियों और पैनी नज़र रखने के लिए किया जा रहा है ड्रोन का प्रयोग, चलाए जा रहे हैं कौंबिंग ऑपरेशन

चंडीगढ़, 17 जनवरी 2022, (ओजी न्यूज़ ब्यूरो)- 

राज्य में निष्पक्ष, पारदर्शी और लालच मुक्त विधान सभा मतदान को यकीनी बनाने के मद्देनज़र पंजाब पुलिस ने ख़ास तौर पर सरहदी जिलों और अंतरराष्ट्रीय सरहद के साथ लगते क्षेत्रों में तलाशी मुहिम में और तेज़ी लाई है जिससे शक्की/संवेदनशील क्षेत्रों में ग़ैर-कानूनी गतिविधियों पर नज़र रखी जा सके।

इस कार्यवाही में बीएसएफ, पीएपी, सीआईडी यूनिटों, विशेष शाखा, आबकारी और कर विभाग और डॉग स्कुऐड और एंटी साबोताज टीमों से तरफ से सहायता की जा रही है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये मुख्य डायरैक्टर विजीलैंस ब्यूरो-कम-स्टेट पुलिस नोडल अफ़सर (ऐस.पी.एन.ओ) ईश्वर सिंह ने बताया कि रिवायती तलाशी अभ्यान चलाने के इलावा, पंजाब पुलिस की तरफ से ब्यास और सतलुज दरियाओं के साथ-लगते मुश्किल पहुँच वाले मंड के क्षेत्रों को कवर करने के लिए हवाई सर्वेक्षण करने के लिए ड्रोनों की तैनाती करके प्रौद्यौगिकी आधारित पुलिसिंग को दर्शाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि तलाशी अभ्यान के दौरान अलग-अलग स्थानों जैसे कच्ची सड़कों (पगडंडी), ट्यूबवैल, ताज़े खोदे गए क्षेत्र, खेत के बीच वाले स्तर के स्थानों, गाँव के  बाहर स्थित डेरा /गुज़र की तरफ विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

ज़िक्रयोग्य है कि डीजीपी पंजाब ने शनिवार को एस.पी.एन.ओ के साथ राज्य के सीपीज़ /ऐसऐसपीज, के साथ लगते अलग अलग राज्यों की पुलिस और ख़ुफ़िया एजेंसियों के साथ राज्य में नशे की आमद को रोकने के लिए एक उच्च स्तरीय मीटिंग की थी। मीटिंग के दौरान डीजीपी ने राज्य के सभी सीपीज /ऐसऐसपीज़ को मतदान के मद्देनज़र नशे और लूटपाट के प्रति ज़ीरो टालरैंस की नीति अपनाने के लिए स्पष्ट निर्देश दिए थे।

एस.पी.एन.ओ ईश्वर सिंह ने कहा कि मीटिंग के द्वारा पूरी पुलिस एकजुट हो गई है और राज्य में नाजायज शराब और नशे की बरामदगी से यह अच्छा तालमेल पहले ही दिखाई दे रहा है।

उन्होंने कहा कि हरेक जिले में सांझा टास्क फोर्स की टीमें गठित की गई हैं और मतदान के दौरान कोई भी ग़ैर-कानूनी गतिविधि न होने को यकीनी बनाने के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि सोमवार को ही अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने 1100 किलो नाजायज शराब बरामद की है, जबकि बटाला पुलिस ने छापेमारी के दौरान 620 किलो नाजायज शराब बरामद की है।

About raftaarindia_4ho0bxxo

Check Also

मंदिर में बेअदबी पर भड़के हिदू संगठन, गुस्साए संगठनों ने की आपातकाल मीटिग, आज पटियाला बंद का ऐलान, शिवसेना ने भी की निंदा

पटियाला, 25 जनवरी 2022, ओजी न्यूज़ ब्यूरो- एतिहासिक श्री काली देवी जी के मंदिर में …

Leave a Reply

Your email address will not be published.